जेल से रिहा होने के एक सप्ताह बाद शिक्षकों के बीच धरना में भाग लेने पहुँचे आनंद कौशल जी का गर्मजोशी से किया गया स्वागत।

अपने गृह प्रखंड गिद्धौर (जमुई) से आनंद कौशल जी ने बिहार सरकार को दी खुली चेतावनी, कहा अपना हक लेकर रहेंगे नियोजित शिक्षक
जेल से रिहा होने के एक सप्ताह बाद शिक्षकों के बीच धरना में भाग लेने पहुँचे आनंद कौशल जी का गर्मजोशी से किया गया स्वागत।

आनंद कौशल ने बिहार के सभी शिक्षक भाई-बहन से बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले एकजुट रहने का किया आह्वान

बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले आयोजित राज्यव्यापी धरना को ऐतिहासिक सफलता प्रदान करने के लिए बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल जी ने बिहार के सभी शिक्षकों के प्रति आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया ।

*खबर विस्तार से*
प्रदेश भर में नियोजित शिक्षक अपने लिए पुराने शिक्षकों वाला वेतनमान और सेवाशर्त लागू करने की मांग लगातार कर रहे है। शनिवार को भी गिद्धौर (जमुई) प्रखंड मुख्यालय में बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष अमरेश सिंह की अध्यक्षता में शिक्षकों ने धरना दिया और अपनी मांग को लेकर सरकार के खिलाफ विरोध प्रकट किया ।

इस अवसर पर महाधरना को संबोधित करते हुए बिहार पंचायत – नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह ने चेतावनी दी है कि सरकार के द्वारा जल्द ही नियोजित शिक्षकों की सभी मांगे पूरी नहीं कि गई तो 04 लाख शिक्षक पूरे परिवार के साथ सड़कों पर आकर सरकार के खिलाफ चक्का जाम कर देंगे और अपना हक लेकर रहेंगे । उन्होंने कहा कि 15 साल से नियोजित शिक्षकों को समान वेतन के अधिकार से बंचित कर बिहार सरकार राष्ट्रीय शिक्षा कानून का उल्लंघन कर रही है जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल ने 18 जुलाई को पटना में सरकार के इशारे पर निहत्थे व निर्दोष शिक्षकों पर बर्बरतापूर्वक चलाए गए लाठी-गोली और झूठे मुकदमे के तहत की गई गिरफ्तारी की तीखी निंदा करते हुए शीघ्र मुकदमा वापस लेने की मांग की है ।
मौके पर शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के नाम संबोधित 08 सूत्री ज्ञापन प्रखंड विकास पदाधिकारी गिद्धौर को सौंपा ।
धरना कार्यक्रम में बिहार पंचायत – नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिला कोषाध्यक्ष जमुई राजीव वर्णवाल, प्रखंड अध्यक्ष गिद्धौर बशिष्ठ नारायण यादव, प्रखंड महासचिव गिद्धौर ब्रजेश सिंह,वरीय उपाध्यक्ष रंजीत यादव,उपाध्यक्ष कैलाशपति यादव,उमाशंकर प्रसाद,वंदना कुमारी,सचिव मंटू मंडल,धर्मेन्द्र पासवान,साबिर अंसारी,मीडिया प्रभारी दयानंद साव,BRP बिकास पासवान,मुरारी गुप्ता,लालजी प्रसाद,शक्तिधर, राजेश कुमार,सीतेश कुमार, सतीश कुमार,अरुण मंडल,बबीता देवी,सुजाता तिवारी,अंजू कुमारी,सबुजा कुमारी,खुशबू कुमारी,ज्योत्सना कुमारी,मनीषा कुमारी,सीता कुमारी,कुमार परवेज,पंकज सिंह,चुनचुन सिंह,प्रदीप प्रभाकर,धर्मेन्द्र शर्मा, विनोद सक्सेना,अवधेश मालवीय,व्यास यादव,बिकास केशरी,शिवकुमार राम,संतोष कुमार,शुशील सिंह,शुबोध मालवीय,राम कुमार तिवारी,राकेश कुमार,मनोज कुमार,बाबुल सिंह,निरंजन कुमार, रंजीत शर्मा,प्रभाकर कुमार,संजय यादव,रवि कुमार रवि,सुनील कुमार,विन्देश्वरी यादव,प्रवीण कुमार,अजय पासवान,जितेंद्र कुमार,महादेव यादव,सनोज सुमन,योगेंद्र यादव,मो सज्जाद हैदर सहित सैकड़ों शिक्षक/शिक्षिकायें उपस्थित थे।

*प्रमुख माँग* :-
1. नियोजित शिक्षकों को पुराने शिक्षकों की भाँति हूबहू वेतनमान दिया जाये।
2. नियोजित शिक्षकों को पुराने शिक्षकों की भाँति सेवाशर्त, नियोजन इकाई से बाहर स्थानांतरण की सुविधा एवं वेतन संरक्षण का लाभ दिया जाये।
3. पुरानी पेंशन योजना का लाभ सभी नियोजित शिक्षकों को दिया जाये।
4. वेतन निर्धारण की विसंगति को दूर किया जाये, ग्रेड पे में 2.57 से गुणा करते हुए नवप्रशिक्षित शिक्षकों का वेतन निर्धारण किया जाये।
05- 18 जुलाई 2019 को गर्दनीबाग पटना स्थित धरना स्थल पर शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों पर गर्दनीबाग थाना में दर्ज किए गए झूठा मुकदमा को शीघ्र वापस लिया जाय और शिक्षकों पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज करने वाले पुलिस पदाधिकारियों पर कठोर कानूनी करवाई की जाय ।
6. पूर्व की भाँति शिक्षकों के अप्रशिक्षित आश्रितों को नियम को शिथिल करते हुए अनुकम्पा का लाभ दिया जाये।
7. सभी कोटि के नियोजित शिक्षकों को ग्रुप बीमा एवं सामान्य निधि योजना का लाभ दिया जाये।
8. शहरी क्षेत्र में कार्यरत नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों की तरह शहरी परिवहन भत्ता का लाभ दिया जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here