मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट: इन तीन राज्यों में दिवाली पर होगी जमकर बारिश


दोस्तों मानसून का मौसम लगभग खत्म होने वाला है लेकिन फिर भी एक बार फिर भारत की राज्यों में भारी बारिश हो रही है आपको बता दें कि बंगाल की खाड़ी तथा केरल के समुद्री इलाकों में बने एक चक्रवर्ती श्रॉफ के कारण पूरे भारत भर में विशेषकर उड़ीसा ,छत्तीसगढ़ तथा कर्नाटक इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग द्वारा दी गई है l

छत्तीसगढ़ में दिवाली के त्योहार पर पानी फिर सकता हैं. मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिन बारिश पूरे छत्तीसगढ़ को भिगो सकती हैl मौसम विभाग का पूर्वानुमान है की बारिश 1 सप्ताह से ज्यादा समय के लिए हो सकती है. इस बीच, मौसम विभाग ने बिहार और पूर्वी यूपी के लिए भी अलर्ट जारी किया है. यहां भी 1 हफ्ते बारिश की संभावना जताई जा रही हैl

गुरुवार के दिन सुबह से ही बादल छाए हुए हैं तथा तेज बारिश के आसार मौसम विभाग द्वारा जताई जा रही हैlदरअसल, बारिश की वजह बंगाल की खाड़ी में बना बड़ा चक्रवात और अरब सागर में उठ रहे चक्रवात को बताया जा रहा हैंl छत्तीसगढ़ के बस्तर, रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर संभाग में बारिश होने की पुरी संभावना हैं. उत्तरी और दक्षिण छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा बारिश होगीl

मौसम वैज्ञानिक के अनुसार राज्य में होने वाली बारिश से सबसे ज्यादा नुकसान खेत की फसलों को पहुंच सकता है. साथ ही साथ मौसम के प्रभाव से सर्दी भी बढ़गी. भारत के दक्षिण, पूर्व के कुछ राज्य और महाराष्ट्र के इलाकों में अगले एक हफ्ते तक बारिश हो सकती हैl

मौसम विभाग ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से पर्याप्त नमी मिलने और पुरवा हवा का रुख होने से पूर्वांचल में बादलों की सक्रियता बनी हुई हैl वहीं हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ों पर रह रहकर हो रही बर्फबारी से भी ठंड में इजाफा आगे होने की उम्मीद है. वहीं आने वाले दो से चार दिनों तक बादलों की आवाजाही बनी रह सकती हैl

Google
बिहार में बादल छाए, बारिश के आसार

बिहार की राजधानी पटना और इसके आसपास के क्षेत्रों में बुधवार को बादल छाए हुए हैं. मौसम विभाग ने 24 घंटे के दौरान राज्य के कई क्षेत्रों में बारिश के आसार जताए हैं. इस बीच, तापामन में भी गिरावट दर्ज की गई है. बुधवार को पटना का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गयाl

दोस्तों आपको बता दें कि उड़ीसा तथा केरल के 30 इलाकों में चक्रवाती तूफान आने के भी आसार हैं क्योंकि इलाकों में एक चक्रवर्ती प्रपंच बन रहा है जो तेज हवाओं के साथ समुद्र के तट पर टकरा सकता हैl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here