Breaking News पटना बिहार शिक्षक आंदोलन शिक्षक चौपाल : शिक्षा की मशाल शिक्षा शिक्षा विभाग शिक्षा विभाग समान काम समान वेतन सामान्य ज्ञान हाईकोर्ट

बड़ी खबर/बिहार शिक्षक (कोरोना योद्धा) का मामला पहुँचा हाईकोर्ट

E-FILING करने के बाद अधिवक्ता मृत्युंजय कुमार के द्वारा जनहित याचिका की कॉपी सरकार के एडवोकेट जेनरल आदि को कर दिया गया है सर्व

पटना/ चौपालसंवाद प्रतिनिधि/ दिनांक- 28-05-2020/बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष आनंद कौशल सिंह जी के ओर से विद्वान अधिवक्ता मृत्युंजय कुमार जी ने E-FILING के द्वारा माननीय उच्च न्यायालय पटना में जनहित याचिका दायर कर जानकारी दी है कि स्वास्थ्य विभाग, भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम में लगे सभी कर्मियों, चाहे वे कर्मी किसी भी विभाग के हों, को 50 लाख रुपया का सुरक्षा बीमा देने का निर्णय लिया गया है, जबकि बिहार सरकार के द्वारा सिर्फ स्वास्थ्य विभाग के कर्मी को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है। वहीं दिल्ली की सरकार(केजरीवाल जी) ने कोविड 19 में काम कर रहे सभी कोरोना योद्धाओं/ स्वास्थ्य कर्मियों चाहे वो पुलिस हों या शिक्षक, उनको 1 करोड़ का बीमा लाभ दिया जा रहा है । जबकि बिहार सरकार के द्वारा कोरोना के रूप में काम कर रहे शिक्षकों का मनोबल तोड़ा जा रहा है ।

ज्ञात हो कि माननीय पटना उच्च न्यायालय में पुलिस बल के कर्मियों को कोरोना योद्धा मानते हुए उन्हें सभी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए पूर्व में एक जनहित याचिका दायर की गई है जिसकी सुनवाई दिनांक 04-06-2020 को होने की संभावना है। इसलिए आनंद कौशल जी के द्वारा दायर जनहित याचिका में शिक्षकों एवं अन्य नियोजित कर्मियों जो कि कोविड-19 में प्रतिनियोजित किए गए हैं, उन्हें भी कोरोना योद्धा मानते हुए 50 लाख का बीमा योजना एवम् अन्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए माननीय उच्च न्यायालय से प्रार्थना की गई है।
माननीय उच्च न्यायालय पटना को जानकारी दी गई है कि Quarantine center,Isolation Centers etc पर बिना सुरक्षात्मक किट (PPE),बीमा,अल्पहार-भोजन आदि के ही दिन-रात कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम हेतु ड्यूटी कर रहे शिक्षकों सहित सभी संविदा कर्मी यथा किसान सलाहकार, पंचायत रोजगार सेवक, विकास मित्र, आंगनवाड़ी सेविका/सहायिका आदि के प्राण संकट में है । इसलिए शीघ्र वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जनहित याचिका की सुनवाई कर कोरोना योद्धाओं के प्राण की रक्षा हेतु न्याय निर्णय पारित करने की मांग की गई है ।
संघ की ओर से बताया गया कि आप सभी को मालूम है कि कोरोना योद्धा के रूप में दिन-रात काम कर अपने कर्तव्य का निर्वहन कर रहे बिहार के सभी शिक्षकों के प्राण की रक्षा हेतु बिहार पंचायत-नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के द्वारा 15 दिन में बिहार के मुख्यमंत्री आदि को दो बार पत्र लिखा गया था । फिर भी मुख्यमंत्री जी की कुम्भकर्णी निंद्रा नहीं टूटी तो आज आनंद कौशल ने माननीय उच्च न्यायालय पटना में सरकार के खिलाफ जनहित याचिका दायर कर दी है और न्यायालय के सामने भी आनंद कौशल ने नीतीश सरकार का काला चेहरा उजागर करने का काम किया है।

Related posts

तिलकामांझी राष्ट्रीय पुरस्कार से पौधा वाले गुरुजी ट्री मैन राजेश कुमार सुमन सम्मानित

cradmin

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जीवनी बच्चों को काफी प्रेरित करती है। विभागीय निदेश के आलोक में प्रतिदिन चेतना सत्र में “बापू की पाती” का वाचन होता है। बच्चों में उत्सुकता बनी रहे , इसलिए इसके वाचक प्रतिदिन अलग-अलग बच्चे/शिक्षक होते है। आज बापू की पाती का वाचन रेमी कुमारी , प्रखंड शिक्षिका द्वारा किया गया।

cradmin

बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश इकाई की हुई बैठक, शिक्षक एकता और समान काम समान वेतन पर हुई चर्चा

cradmin

Leave a Comment